Home Made Candle Making Process & Business मोमबत्ती बनाना

मोमबत्ती बनानाः- Home Made Candle Making Process & Business

मोमबत्ती का नाम सुनते ही दीपावली याद आ जाती है मन में तमाम प्रकार के मोमबत्ती से सजे हुए घर दिखने लगते हैं बाजार में सजी हुई वो दुकाने दिखने लगती हैं जहाँ मोमबत्ती बिकती है। इस मोमबत्ती को खरीदने के लिये धक्का-मुक्की करते हुए बच्चे,  औरतें,  पुरुष,  नौजवान,  बूढ़े सभी नजर आने लगते हैं।

मोमबत्ती शब्द के अर्थ की बात करें तो इसका शाब्दिक अर्थ है मोम और बत्ती। इसकी उत्पत्ति लैटिन भाषा के कैंडला शब्द से हुई है जिसका मतलब होता है प्रकाश। इसे अंग्रेजी में कैंडिल कहते हैं।

इसका निर्माण करने के लिये दो चीजों की मुख्य आवश्यकता होती है 1- मोम, 2- बत्ती।

मोमबत्ती की मांग बाजार में निरन्तर बनी रहती है इसका उपयोग लोग धार्मिक कार्यों और घरों की सजावटों में भी करते हैं। आज कल आधुनिक त्योहार के रुप में लोग बर्थडे पार्टी भी बिना मोमबत्ती के नही मना सकते। इस पार्टी में मोमबत्ती की अहम भूमिका होती है जिसके बारे आप भली भाँति परिचित होंगे। सम्पन्न घरानो के लोग अपने परिवार के साथ अधिकतर कैडिल लाईट डिनर पर जाते है। स्कूल, कालेजों में छात्र शिक्षक-दिवस  मनाते समय मोमबत्ती का प्रयोग करने से नही चूकतें हैं। सिख लोग भी गुरुनानक जयन्ती के शुभ अवसर पर प्रकाशोत्सव मनाने की प्रक्रिया में मोमबत्ती का बहुतायत प्रयोग करते हैं इसके अतिरिक्त ईसाई समाज में लोगों के द्वारा चर्च में मोमबत्तियाँ जलाने का प्रावधान है। आजकल राजनीतिक परिदृश्य में लोगों के द्वारा कैंडिल मार्च निकालते हुए हम लोगों के द्वारा आसानी से देखा जा सकता है। कुल मिलाकर निष्कर्ष यह निकल कर आता है कि मोमबत्ती की खपत हमारे समाज में बहुत ब्यापक पैमाने पर होती  है।

मोमबत्ती का बिजनेस कैसे शुरु करें? Candle Making Process

मोमबत्ती का बिजनेस किस प्रकार शुरु किया जायेगा।  इस व्यवसाय को करने के लिये कितने बड़े कमरे की जरुरत पड़ेगी, कितने वर्कर की आवश्यकता होगी,  कच्चा माल कहाँ से प्राप्त होगा,  पैकिंग कैसे होगी, कौन-कौन सी कानूनी प्रक्रिया अपनानी होगी,  कितनी पूँजी लगेगी, बिजनेस किस प्रकार तेजी से बाजार पकड़ेगा, कितना फायदा होगा, आदि सम्पूर्ण जानकारी के लिये इस पूरे लेख को ध्यान से पढ़ना आवश्यक है।

मोमबत्ती बनाने के लिये आवश्यक सामग्री (Raw Material)

मोमबत्ती का कारोबार शुरु करने के लिये प्रमुख सामग्री की सूची निम्नवत है।
1 मोम

2- काटन का मोटा व पतला धागा (आवश्यकतानुसार)
3- कैची

4- विभिन्न डिजाईन के साँचे
5- एक या दो चिकना व समतल लोहे की चादर (तवा)
6- एक इलेक्ट्रानिक हीटर अथवा गैस या कैरोसिन स्टोव
7- पैकिंग के लिये पतली व मजबूत पारदर्शी प्लास्टिक पालीथीन
8- सेलोटेप व टेप कटर मशीन
9- मोम गरम करने हेतु जस्ते या लोहे या स्टील के कनस्तर (कड़ाही)
10- साँचों मे मोम को डालने हेतु हैंडिल लगे हुए करछुल
11- रंगयुक्त मोमबत्ती बनाने के लिये विभिन्न प्रकार के रंग।
12- खुशबूदार मोमबत्ती बनाने के लिये खुशबू या सेन्ट
13- मोमबत्ती में धागा डालने हेतु छिद्र करने के लिये ड्रिल मशीन।

उपर्युक्त आवश्यक सामग्री कहाँ से प्राप्त करे Candle Raw Material

मोमबत्ती बनाने के लिये ऊपरलिखित सामग्री एवं संसाधनों को प्राप्त करने हेतु आप गूगल में सर्च करके अनेक बेवसाईटों के माध्यम से आनलाइन खऱीददारी कर सकते हैं या इन वस्तओं को प्राप्त करने के लिये स्थानीय बाजारों में इन धन्धो से जुड़े हुए लोगों से सम्पर्क कर सकते हैं। स्थानीय बाजारों में इस प्रकार के कच्चे माल आसानी से व सस्ते मूल्य पर उपलब्ध रहते हैं।

मोमबत्ती निर्माण की सम्पूर्ण प्रक्रिया Candle Making Step By Step Process

1-   मोमबत्ती बनाने के लिये सबसे पहले कच्चे मोम को चौड़े मुँह वाले बर्तन (जस्ते या टिन या लोहे की कड़ाही) मे
रखकर धीमी आँच पर गरम करते हैं इसी समय रंगीन मोमबत्ती बनाने के लिये अपना मनचाहा रंग पिघलते हुए
मोम की कड़ाही मे डाल देते हैं और अच्छी तरीके से मिला देते हैं।

2-   जब इसका तापमान 70 डिग्री सेन्टीग्रेड हो जाता है तब हैंडिल लगे हुए करछुल की सहायता से बड़ी सावधानी से
अलग-अलग प्रकार के साँचे में उड़ेल दिया जाता है।

3-  पिघले हुए मोम को साँचों मे डालते समय इस बात का ध्यान रखते हैं कि सभी साँचों में एक निर्धारित मात्रा में ही
मोम को डाला जाय जिससे मोम बाहर न निकलकर गिरे तथा अपेक्षित आकृति की मोमबत्ती प्राप्त हो सके।

4-  साँचों में मोम को डालने के बाद कुछ समय तक इसको ठण्डा होने के लिये छोड़ दें जिससे मोमबत्ती भली प्रकार से
साँचों के अन्दर जम जाय। जल्दी से ठण्डा करने के लिये आप फ्रीजर या शीतलक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं
ताकि समय की बचत हो।

5-  जमे हुए मोम को साँचे से बाहर निकालकर उसमें धागा डालने हेतु ड्रिल मशीन पर ले जाते हैं। ड्रिल मशीन की
सहायता से जमे हुए मोम के बीचोबीच बड़ी सावधानी से आर-पार छिद्र कर देते हैं। मोम धागा डालने योग्य हो जाय
इसके लिये मोम के दोनो सिरों को बारी-बारी से ड्रिल मशीन में प्रवेश करा देते हैं।

6-  धागे के एक सिरे में गाँठ लगाकर दूसरे सिरे को बने हुए छेद में आर-पार घुसा देते हैं और मोम के बचे हुए छेद को
पिघले हुए मोम से भर देते हैं ताकि छेद भर जाय और धागे के हिलने-डुलने की सम्भावना न रह जाय।

7-  यह प्रक्रिया मोम के नीचे-ऊपर दोनों सिरों पर करते हैं। शेष बचे हुए धागे को कैंची की सहायता से काटकर बाहर
निकाल देते हैं। बनी हुई मोमबत्ती को सतह पर टिकाने के लिये इसके निचले हिस्से को गरम लोहे की चादर (तवा)
पर रखकर थोड़े समय तक रगड़ देते हैं जिससे मोमबत्ती के निचले हिस्से में आधार बन जाय और मोमबत्ती कहीं भी
आसानी से खड़ी की जा सके। इस प्रकार पैकिंग के लिये मोमबत्ती बनकर तैयार हो जाती है।

मोमबत्ती पैकिंग की प्रक्रिया Candles Packing Process

बनी हुई मोमबत्ती को पैक करने के लिये सबसे पहले मोमबत्ती को चिकना बना लेते हैं। चिकना बनाने के क्रम में इस्पात के पतले प्लेट या चाकू की सहायता ली जा सकती है। चिकना बनाने के बाद मोमबत्ती को पारदर्शी पतली पालीथीन में बीचोबीच रखकर सेलोटेप की सहायता से पैक कर देते हैं। यदि आप चाहें तो आप अपने नाम के या अपनी कम्पनी के ब्रान्डिंग नेम के स्टीकर को मोमबत्ती के साथ लगाकर अपना विज्ञापन व प्रचार-प्रसार भी कर सकते हैं।

कानूनी प्रक्रिया Registration Process For Candle Business

इस प्रक्रिया के अन्तर्गत आप अपने कारोबार का वस्तु एवं सेवाकर (जी0एस0टी0) में पंजीकरण करवा लें।
एवं बिक्री हेतु पक्के बिल की रसीद छपवा लें।

कितनी पूँजी लगाकर इस व्यवसाय की शुरुआत की जा सकती है?
इसके लिये कच्चे माल तथा सभी मशीनरी की कुल लागत लगभग 15 हजार रुपये होती है जो काफी सस्ती है। अतः इस बिजनेस की शुरुआत के लिये पूँजी के विषय में बहुत सोच-विचार करने की आवश्यकता नहीं है।

मोमबत्ती व्यवसाय से लाभ Candle Making Business Profit

इस व्यवसाय को प्रारम्भ करके शुरुआती चरणों में ही अपने धैर्य और परिश्रम की सहायता से लागत मूल्य का तीन से चार गुना मुनाफा कमाया जा सकता है।

स्मार्ट आइडियाः-
दोस्तों हमारा देश अपार सम्भावनाओं का संसार है आवश्यकता सिर्फ इस बात की है कि उन सम्भावनाओं को अपने विकास के अवसर के रुप में परिवर्तित कर दिया जाय। इस प्रकार के छोटे-छोटे लघु एवं कुटीर उद्योगों के सृजन से जहाँ आप अपने परिवार का भरण-पोषण बड़ी आसानी से कर सकते हैं। साथ ही अच्छी आय भी कर सकते हैं और बेरोजगारी के दंश को कम कर सकते हैं।

Hawai Chappal Making Business || Detergent Cake (Soap) Making Business|| Pen Making Process & Business || Paper Plate & Dona Making Business    || Candle Making business || shoes wholesale business || Textile Business || Top 5 Business Ideas In Low Investment || Phenyl Making Business || Detergent Powder Manufacturing Business ||  Wire Nail Manufacturing   Camphor Tablet Making Business || Agarbatti Making Business

One thought on “Home Made Candle Making Process & Business मोमबत्ती बनाना”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *